May 21, 2024

अमेरिकी शॉर्ट सेलिंग फर्म Hindenburg Research की रिपोर्ट ने अडानी ग्रुप (Adani Group) को बुरी तरह झकझोर कर रख दिया है। ग्रुप की तीन कंपनियों के शेयर गिरते-गिरते आज 52 हफ्ते के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गए। इनमें अडानी ग्रीन एनर्जी (Adani Green Energy), अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmission) और अडानी टोटल गैस (Adani Total Gas) शामिल हैं।

इनके अलावा अडानी पावर (Adani Power) का शेयर भी पांच फीसदी गिर गया। ग्रुप की दूसरी कंपनियों के शेयरों में भी उतारचढ़ाव का दौर रहा। Hindenburg Research की रिपोर्ट आने के बाद अडानी ग्रुप का मार्केट कैप 100 अरब डॉलर से कम हो चुका है।



साथ ही ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी (Gautam Adani) की नेटवर्थ भी आधी से कम रह गई है। इस दौरान वह अमीरों की लिस्ट में तीसरे से 21वें नंबर पर खिसक गए हैं।

अडानी ग्रीन एनर्जी का शेयर पांच फीसदी गिरावट के साथ 723.90 रुपये पर आ गया। यह इसका 52 हफ्ते का न्यूनतम स्तर है। पिछले साल 19 अप्रैल को यह 3,048.00 रुपये पर पहुंच गया था जो इसका एक साल का उच्चतम स्तर है। इसी तरह अडानी ट्रांसमिशन के शेयर की कीमत भी पांच फीसदी गिरावट के साथ 1186.15 रुपये रह गई। इसका उच्चतम स्तर 4,238.55 रुपये है। यह शेयर पिछले साल 16 सितंबर को इस मुकाम पर पहुंचा था।

अडानी टोटल गैस का शेयर भी आज लोअर सर्किट पर पहुंच गया। यह पांच फीसदी की गिरावट के साथ 1258.25 रुपये पर आ गया। इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 3,998.35 रुपये है। दिलचस्प बात है कि Hindenburg Research की रिपोर्ट आने से एक दिन पहले ही यह इस स्तर पर पहुंचा था।

आखिर क्यों आई गिरावट

ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises) का शेयर भी 4.28 फीसदी गिरावट के साथ ट्रेड कर रहा था। अडानी पावर (Adani Power) में पांच फीसदी, अडानी विल्मर (Adani Wilmar) में 0.98 फीसदी, एसीसी (ACC) ने 1.85 फीसदी और एनडीटीवी (NDTV) में 3.81 फीसदी गिरावट आई है। अंबूजा सीमेंट्स (Ambuja Cements) में 1.12 फीसदी और अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन (APSEZ) का शेयर 0.25 फीसदी की तेजी आई है।

इस बीच इंडेक्स प्रोवाइडर MSCI ने अडानी ग्रुप के चार शेयरों के फ्री फ्लोट स्टेटस में कटौती कर दी है। एनालिस्ट्स का कहना है कि इससे इंडेक्स में उनका वेटेज कम हो सकता है। MSCI ने अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी टोटल गैस, अडानी ट्रांसमिशन और एसीसी के फ्री फ्लोट स्टेटस को कम कर दिया है। यह बदलाव एक मार्च से लागू होगा।

MSCI के एमर्जिंग मार्केट्स इंडेक्स में इन चार कंपनियों का कंबाइंड वेटेज 0.4 परसेंट था। बाकी कंपनियों के फ्री फ्लोट स्टेटस में कोई कमी नहीं की गई है। फ्री फ्लोट किसी भी सिक्योरिटी का वह हिस्सा होता है जो इंटरनेशनल इनवेस्टर्स के लिए खरीद फरोख्त के लिए उपलब्ध होता है।

PK_Newsdesk

What does 7 Days of Valentine means? LIFE CHANGING SPORTS QUOTES 4 Guinness World Records BTS broke in 2022 Sustainability Tips for Living Green Daily Quote of the day