June 21, 2024
photo of sliced cake on ceramic plate

Photo by Lisa Fotios on <a href="https://www.pexels.com/photo/photo-of-sliced-cake-on-ceramic-plate-907142/" rel="nofollow">Pexels.com</a>

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए विशेषज्ञ, सभी लोगों को आहार पर विशेष ध्यान देने की सलाह देते हैं, इसमें बरती गई लापरवाही कई गंभीर और क्रोनिक बीमारियों के जोखिम को बढ़ाने वाली हो सकती है। अध्ययनों में ज्यादा मीठी चीजों को सेहत के लिए नुकसानदायक बताया गया है। आमतौर पर माना जाता है कि अधिक मात्रा में चीनी वाली चीजों का सेवन करने वालों में डायबिटीज का जोखिम अधिक होता है, पर क्या आप जानते हैं कि चीनी सिर्फ डायबिटीज ही नहीं हृदय रोगों और कैंसर जैसी समस्याओं के जोखिम को भी बढ़ा देती है। यही कारण है कि विशेषज्ञ कम मात्रा में ही चीनी के सेवन की सलाह देते हैं।

अगर आप भी ज्यादा मीठा खाने के शौकीन हैं, तो सावधान हो जाइए, इससे कई प्रकार के नुकसान हो सकते हैं। सॉस से लेकर पीनट बटर तक, ऐडेड शुगर वाली चीजें सेहत के लिए समस्याओं को बढ़ाने वाली हो सकती हैं।



विशेषज्ञों का मानना है कि चीनी का अधिक सेवन मोटापे और कई क्रोनिक बीमारियों, जैसे टाइप-2 डायबिटीज, हृदय रोगों के जोखिम को बढ़ा देता है। इसकी मात्रा को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है। आइए जानते हैं कि चीनी का अधिक सेवन किस प्रकार की समस्याओं को बढ़ाने वाला हो सकता है?

मोटापे का बढ़ जाता है खतरा

a man holding his tummy
Photo by Towfiqu barbhuiya on Pexels.com

अधिक वजन या मोटापे की स्थिति को कई गंभीर रोगों का कारण माना जाता है, ऐसे में यदि आप अधिक मीठा खाने के शौकीन हैं तो अलर्ट हो जाएं। अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि ऐडेड शुगर वाली चीजें वजन बढ़ने का कारण हो सकती हैं। मीठे पेय जैसे सोडा, जूस और मीठी चाय में फ्रुक्टोज की अधिकता होती है जो खाने की इच्छा को बढ़ा देती जाती है। यह स्थिति तेजी से वजन बढ़ने की समस्या का कारण बन सकती है। मोटापा ग्रस्त लोगों में हृदय रोगों का खतरा अधिक होता है।

हृदय रोगों की बढ़ सकती है समस्या

medical stethoscope and mask composed with red foiled chocolate hearts
Photo by Karolina Grabowska on Pexels.com

हाई-शुगर डाइट को कई बीमारियों के बढ़ते जोखिम से जोड़कर देखा जाता रहा है जिसमें हृदय रोग भी शामिल हैं। शोध में पाया गया है कि अधिक मात्रा में चीनी वाले आहार मोटापा और सूजन के साथ-साथ हाई ट्राइग्लिसराइड्स, रक्त शर्करा और रक्तचाप का स्तर बढ़ा सकते हैं, ये सभी हृदय रोग के जोखिम कारक हैं। इसके अतिरिक्त, अधिक चीनी का सेवन, विशेष रूप से मीठे पेय से एथेरोस्क्लेरोसिस का भी खतरा होता है जो धमनियों को अवरुद्ध करने वाली समस्या के तौर पर जानी जाती है।
त्वचा विकारों की समस्या

त्वचा पर हो सकते हैं दुष्प्रभाव

melancholic ethnic woman with makeup and curly hair near mirror
Photo by Dih Andréa on Pexels.com

अधिक चीनी वाली चीजें त्वचा संबंधी विकारों जैसे मुंहासे या दाने निकलने का भी कारण बन सकती हैं। रिफाइंड कार्ब्स वाले आहार से भी इस तरह की समस्याओं का जोखिम रहता है। इसके अलावा हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ रक्त शर्करा को तेज़ी से बढ़ाते हैं, इससे इंसुलिन के स्तर में भी वृद्धि हो सकती है। इस स्थिति के कारण भी दाने और मंहासे होने का खतरा अधिक रहता है।
विज्ञापन

मीठी चीजें हो सकती हैं कैंसर कारक

cancer word spelled on scrabble tiles
Photo by Anna Tarazevich on Pexels.com

शोधकर्ताओं ने पाया कि अधिक मात्रा में चीनी वाली चीजें खाने से कुछ प्रकार के कैंसर के विकसित होने का भी खतरा बढ़ सकता है। मीठे खाद्य और पेय पदार्थ मोटापे का कारण बनते हैं जो कैंसर के खतरे को बढ़ाने वाली स्थिति है। इसके अलावा अधिक चीनी वाले आहार से शरीर में इंफ्लामेशन हो सकता है और ये इंसुलिन प्रतिरोध का कारण बन सकता है, ये दोनों कैंसर के खतरे को बढ़ाते हैं।


नोट: यह लेख मेडिकल रिपोर्ट्स और स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सुझाव के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: पूरी खबर की हेल्थ एवं फिटनेस कैटेगरी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को पूरी खबर के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। पूरी खबर लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

PK_Newsdesk

What does 7 Days of Valentine means? LIFE CHANGING SPORTS QUOTES 4 Guinness World Records BTS broke in 2022 Sustainability Tips for Living Green Daily Quote of the day