जानिए 2019 मे किस चैनल के लिए करना होगा कितना भुगतान,कौन से चैनल होंगे फ्री


केबल टीवी देखना अब आपकी जेब पर भारी पड़ सकता है ।

TRAI के नए नियम से सबसे ज्यादा बोझ ग्रामीण दर्शकों पर पड़ने वाला है जो डायरेक्ट टू होम फ्री डिश का इस्तेमाल करते हैं। फिलहाल दूरदर्शन के सभी चैनल्स डीटीएच के जरिए फ्री में दिखाया जाता है। इसके अलावा प्राइवेट कंपनियों के फ्री-टू-एयर चैनल्स के लिए भी दर्शकों को पैसे नहीं चुकाने पड़ते हैं।

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) के नए नियम के मुताबिक डीटीएच या केबल पर टीवी देखने वाले उपभोक्ता 130 रुपए में 100 चैनल देख सकेंगे। ग्राहक को अपनी पसंद के चैनल चुनने की आजादी भी होगी।

इन 100 चैनलों में ग्राहक की मर्ज़ी के 65 फ्री-टू-एयर चैनल, दूरदर्शन के 23 चैनल, तीन म्यूजिक चैनल, तीन न्यूज चैनल और तीन मूवी चैनल शामिल होंगे। नए नियम के अनुसार कोई भी ऑपरेटर या डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर कंपनी ग्राहकों पर जबरन पैकेज नहीं थोप सकेगी।

हर पेड चैनल की भुगतान राशि प्रति माह जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करिये

Pricing List of all paid Channels

दर्शकों पर पड़ सकता है अतिरिक्त बोझ

नए नियम का सबसे ज्यादा असर ग्रामीण और छोटे शहरों में रहने वाले दर्शकों पर पड़ेगा जो केवल फ्री-टू-एयर चैनल्स देखते हैं। नए नियम के मुताबिक पेड चैनल्स के लिए भी नई कीमतें लागू हो जाएंगी।

जहां पहले पेड चैनल्स को देखने के लिए दर्शकों को 200 से 250 रुपये खर्च करने पड़ते हैं वह बढ़कर 440 रुपये तक पहुंच सकता है। वहीं, एचडी चैनल्स देखने वाले यूजर्स को जहां अभी 600 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, अब ग्राहकों को 800 रुपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं।

ट्राई के आंकड़ों के मुताबिक इस समय देश में 358 ब्रॉडकास्टिंग कंपनियों के 867 टीवी चैनल्स एवं 309 पे-चैनल्स रजिस्टर्ड हैं। पिछले साल टीवी इंडस्ट्री का रिवेन्यू करीब 66 हजार करोड़ रुपये थी।

ये सभी चैनल्स देशभर में मौजूद 1469 एमएसओ और तकरीबन 60 हजार केबल ऑपरेटर्स एवं 6 डीटीएच (डायरेक्ट टू होम) कंपनियों के जरिए घरों तक पहुंचती हैं।




इन चैनलों के लिए खर्च करना होगा मात्र  1 रुपये

डिस्कवरी जीत, बिग मैजिक, जी अनमोल, बिंदास, रिश्ते, सोनी पल, लिविंग फूड्स, स्टार उत्सव, मूवीज ओके, सोनी मैक्स-2, जी एक्शन, सोनी वाह, जी अनमोल सिनेमा, न्यूज 18 इंडिया, आजतक, एनडीटीवी इंडिया, सीएनबीसी आवाज, सीएनएन, एनडीटीवी प्रॉफिट, सोनी मिक्स, जिंग, जी ईटीसी बालीवुड, वीएच-1, डिस्कवरी साइंस आदि चैनल्स के लिए नए नियम के मुताबिक मात्र 1 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

जुर्माने का प्रावधान

चैनलों को दिखाने के लिए तय राशि से ज्यादा पैसा वसूलना गैर कानूनी होगा। इसका उल्लंघन करने वाले केबल ऑपरेटर्स या सर्विस प्रोवाइडर्स पर कानूनी कारवाई की जाएगी।

Facebook Comments

Leave a Reply