20000 से अधिक कैश लेन-देन पर लगी रोक, आयकर विभाग बदले नियम, अब देना होगा इतना जुर्माना


सरकार ने डिजीटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए बड़ा फैसला किया है| एक ओर जहां देश में डिजिटल / इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजैक्शन के लिए कई सुविधाएं मौजूद हैं वहीं दूसरी ओर बहुसंख्यक लोग कैश में लेन-देन करना पसंद करते हैं|

लेकिन अब आयकर विभाग कैश से लेन देन करने वालों के खिलाफ और सख्त हो गया है|

नए आयकर कानून के तहत अब 20 हजार रुपए से अधिक कैश यानि नकदी के लेन-देन करने पर उतने ही पैसे का जुर्माना लगेगा, अगर आप 50 हजार का कैश लेन-देन करते हैं तो आप पर 50 हजार रूपये का फाइन लगेगा| यह प्रावधान आयकर कानून के सेक्शन 269 SS और 269 T के तहत किया गया है| इतना ही नहीं, इस नए कानून का उल्लंघन करने पर आयकर विभाग पूछताछ कर सख्त कार्रवाई भी करेगा|

आयकर विभाग का नया कानून

आयकर विभाग के नए कानून के अनुसार, कैश पेमेंट से किसी भी तरह का लोन / कर्ज, बल्कि किसी भी प्रकार का एडवांस और डिपॉजिट देना भी शामिल है| हालांकि 20 हजार रुपए से कम रकम अगर कोई लेता है या देता है तो उसपर कोई कार्रवाई नहीं होगी|

कुछ लोगों को मिलेगी छूट

कैश से लेन देन करने वालों के खिलाफ सख्ती बरत रहे आयकर विभाग ने कुछ लोगों को इस नियम में ढील देने का भी फैसला लिया है| आप अपने परिवारवालों से 20 हजार रुपए से अधिक में भी कैश का लेन देन कर सकते हैं| इसमें मां-बाप, पति-पत्नी और भाई-बहन जैसे संबंध शामिल हैं| यानी अपने परिजनों से लोग 20 हजार रुपए से अधिक में भी लेन देन कर सकेंगे|

Facebook Comments

Leave a Reply