फैज़ाबाद के बाद क्या ‘आगरा’ का भी होगा नाम परिवर्तन ?


मुगलसराय, इलाहाबाद, फैज़ाबाद आदि के नाम बदलने के बाद भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार रुकने वाली नहीं दिख रही है| ऐसे संकेत हैं कि अभी यूपी के ऐसे तमाम शहर हैं जिनके नाम बदले जाएंगे |

जिन नामों को बदलने के कायास लगाए जा रहे हैं, उनमें मुजफ्फरनगर और आगरा शहर का नाम टॉप में है| दरअसल, इलाहाबाद का प्रयागराज और फैज़ाबाद का नाम अयोध्या रखने के बाद योगी आदित्यनाथ की अगवाई वाली सरकार की ओर से कई शहरों के नाम बदलने की सुगबुगाहट तेज हो गई है|

बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने आगरा शहर को लेकर मांग की है कि आगरा को ‘आगरावन’ या ‘अग्रवाल’ नाम किया जाए|



दरअसल, बीजेपी के कुछ समर्थक ताजमहल को एक राजपूत राजा का बनवाया शिवमंदिर कहते हैं| उसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए वे अब ये मांग कर रहे हैं कि आगरा का नाम बदल कर अग्रवाल कर दिया जाए क्योंकि यहां अग्रवाल समुदाय के लोग ज्यादा रहते हैं|

आगरा उत्तरी से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को खत लिखकर यह मांग की है|

मीडिया की मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग का कहना है कि आगरा का कोई महत्व नहीं है| आगरा को कहीं चेक कर के देख लीजिए| क्या महत्व है? कुछ भी नहीं है| पहले यहां बहुत वन थे| अग्रवालों का निवास था और आज भी अग्रवालों की राजधानी है आगरा| यहां अग्रवाल समुदाय के लोग अधिक रहते हैं. तो इसका नाम आगरावन या अग्रवाल होना चाहिए|

इतना ही नहीं, यूपी के मुजफ्फरनगर का बदलने को लेकर भी बीजेपी विधायक संगीत सोम ने आवाज बुलंद कर दी है| शुक्रवार को उन्होंने कहा कि ‘अभी तो बहुत शहरों के नाम बदले जाने हैं| मुजफ्फरनगर का नाम बदलकर लक्ष्मीनगर लोगों की पहले से ही मांग है| मुजफ्फरनगर नाम एक नवाब मुजफ्फर अली ने किया था| लोगों की सदियों से मांग है कि इसका नाम लक्ष्मीनगर किया जाए|’

You may also like:  ताज मे योगी का स्वच्छता अभियान

इससे पहले बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने शिवसेना ने औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव करने की मांग की है| बता दें कि इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद शहर का नाम बदले जाने की बात आई थी| माना जा रहा है कि उधर गुजरात सरकार भी अहमदाबाद का नाम कर्णावती रखने पर विचार कर रही है|

Facebook Comments

, , ,

Leave a Reply