केरल मे 96 वर्षीय महिला ने क़ायम की मिसाल, साक्षरता परीक्षा में हासिल किए 100 में से 98 अंक


केरल में 96 साल की एक महिला ने साक्षरता परीक्षा में 100 में 98 अंक पाकर मिसाल कायम की। केरल सरकार ‘अक्षरालक्ष्यम’ साक्षरता मिशन चला रही है।

कर्त्यायनीअम्मा इस साक्षरता परीक्षा में शामिल होने वालीं सबसे उम्र दराज़ महिला हैं। परीक्षा देते हुए कर्तयायनी की तस्वीरें भी वायरल हो चुकी हैं।

कर्त्यायनी 10 अगस्त को पूरे राज्य में हुई इस परीक्षा में शामिल हुई थी। हाल ही में इसके नतीजे आए हैं। इसमें 43,330 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें 99.08% यानी 42,933 पास हुए। कर्त्यायनी को गुरुवार को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन सम्मानित करेंगे।

गणित और पाठन में मिले पूरे अंक

परीक्षा तीन वर्गों में होती है। इसमें लेखन, पाठन और गणित शामिल होता है। कर्त्यायनी को लेखन में 40 में से 38 अंक मिले। वहीं, पाठन और गणित में उन्हें पूरे अंक मिले।



100 साल की उम्र तक दसवीं के समकक्ष परीक्षा पास करना चाहती हैं कर्त्यायनी 

कर्त्यायनी का कहना है कि उन्होंने परीक्षा की अच्छे से तैयारी की थी। इसलिए प्रश्न पत्र आसानी से हल कर लिया। उन्होंने बताया कि वे 100 साल की उम्र तक 10वीं के समकक्ष परीक्षा पास करना चाहती हैं।

निरक्षता खत्म करने के लिए सरकार ने शुरू किया मिशन

केरल सरकार ने इस साल गणतंत्र दिवस पर ‘अक्षरालक्ष्यम’ साक्षरता मिशन शुरू किया है। इसका मकसद राज्य में साक्षरता दर को बढ़ाना है। इसके तहत राज्य में 21 हजार 908 वार्डों में 2,086 लर्निंग सेंटर खोले गए हैं। सरकार का कहना है कि वे अगले चार सालों में राज्य के सभी 18.5 लाख निरक्षर लोगों को साक्षर बनाना चाहते हैं।

Facebook Comments

,

Leave a Reply