यूपी विधान परिषद के सभापति की पत्नी बेटे की हत्या के आरोप मे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में


आखिरकार ये सत्य सामने आ ही गया कि विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के छोटे बेटे अभिजीत यादव उर्फ विवेक (22) की हत्या उसकी मां मीरा यादव ने ही की थी।

रविवार देर रात पूछताछ में मीरा यादव ने अपना जुर्म कुबूल भी कर लिया है। वो 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दी गयीं है। एएसपी पूर्वी सर्वेश मिश्र के मुताबिक मीरा ने बताया कि अभिजीत को नशे की लत थी। वह अक्सर शराब पीकर घर आता और हंगामा करता था।

शनिवार को अभिजीत ने उससे शराब के लिए रुपये मांगे थे। रुपये न देने पर उसका बेटे से विवाद हुआ था। इस दौरान अभिजीत ने गाली-गलौज करते हुए उसे अपशब्द भी कहे थे। इस दौरान हुई हाथापाई में उसने अभिजीत का गला घोंट दिया।



दारुल शफा के बी-ब्लॉक के फ्लैट नंबर- 137 में विधान परिषद के सभापति एटा निवासी रमेश यादव की दूसरी पत्नी मीरा यादव अपने बेटे अभिषेक यादव और अभिजीत यादव उर्फ विवेक के साथ रहती थी। मीरा यादव ने पुलिस को सूचना दी थी कि शनिवार रात अभिजीत अपने कुछ दोस्तों के साथ बाहर गया हुआ था।

देर रात वह घर लौटा और अपने कमरे में जाकर लेट गया। रविवार सुबह वह कमरे में मृत मिला। मीरा काफी देर तक यही कहती रही थी कि बेटे की स्वभाविक मौत हुई है। उसके सीने में दर्द उठा था। इसके बाद ही उसकी मृत्यु हो गई।

पुलिस भी पहले उनके बयान को सच समझ रही थी और शव को बिना पोस्टमार्टम के ही देने के लिए तैयार हो गई थी। लेकिन बाद में पुलिस ने जब अभिजीत का पोस्टमार्टम कराया तो उसकी गला घोंट कर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई।

पुलिस अधिकारी यह भी पता कर रहे हैं कि कहीं आरोपी मीरा किसी करीबी को बचाने के लिए तो हत्या का जुर्म अपने सिर नहीं ले रही है। इस सम्ब्न्ध में भी जांच की जा रही है।

Facebook Comments

, , ,

Leave a Reply