UIDAI ने पेमेंट कंपनियों को आधार बेस्ड सेवा बंद करने का दिया नोटिस


सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने डिजिटल पेमेंट कंपनियों को आधार बेस्ड सर्विस उपलब्ध कराने के लिए मना किया है।

 

यूआईडीएआई ने पूछा है कि पेमेंट कंपनियां आधार बेस्ड सेवा को बंद करने के लिए कौन से कदम उठा रही है। गौरतलब है कि हाल में ही सुप्रीम कोर्ट ने आधार पर फैसला सुनाते हुए प्राइवेट कंपनियों से बायोमेट्रिक आधारित ऑथेंटिकेशन सेवा रोकने के लिए कहा है।

जिसके बाद यूआईडीएआई ने विभिन्न पेमेंट कंपनियों से इस बात की लिखित जानकारी मांगी हैं कि वह किस प्रकार से आधार बेस्ड इकोसिस्टम से बाहर निकलेंगी। 12 अक्टूबर को यूआईडीएआई द्वारा जारी पत्र में लिखा गया है कि चूंकि आपकी संस्था आधार बेस्ड ऑथेंटिकेशन सर्विस को अब इस्तेमाल नहीं कर सकती अगर आब तक नहीं किया गया है, तो आपको तत्काल प्रभाव से आधार बेस्ड सभी ऑथेंटिकेशन बंद करने होंगे।




पेप्वाइंट, ईको इंडिया फाइनेंस सर्विसेस और ऑक्सीजन समेत प्राइवेट कंपनियों के समूह को पिछले दो दिनों में यूआईडीएआई द्वारा नोटिस भेजा गया है, जिसमें उनसे पूछा गया है कि वह आधार बेस्ड इकोसिस्टम से बाहर निकलने के लिए क्या प्लान तैयार कर ली हैं।

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक मामले से जुड़े कुछ इंडस्ट्री सूत्रो ने बताया कि यूआईडीएआई द्वारा ये पत्र केवल नॉन बैंकिंग कंपनियों को भेजे गए हैं, जिनके पास प्रीपेड पेमेंट सर्विस का लाइसेंस है। सूत्रों की मानें तो बैंक और पेटीएम जिनके पास बैंकिंग लाइसेंस है, उन्हें इस प्रकार का कोई नोटिस नहीं भेजा गया है। इस बारे में यूआईडीएआई को भेजे गए मेल का जवाब भी नहीं आया है। बता दें कि बीती 26 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने आधार पर सुनवाई करते हुए सेक्शन 57 को खत्म कर दिया।

Facebook Comments

You may also like:  PAN को AADHAR से लिंक करने की समयसीमा 30 जून तक बढ़ी, जाने कैसे घर बैठे करें लिंक
,

Leave a Reply