क्या आपके सिर में भी रहता दर्द, जानिए क्या हो सकती हैं वजह ?


सिर दर्द को अक्सर लोग नज़रअंदाज़ कर देते हैं। इसका कारण लगातार बदलता लाइफस्टाइल हो सकता है।

काम में लोग इतना ज्यादा बिजी हो गए हैं कि सेहत की तरफ उनका ध्यान ही नहीं जाता या फिर सेहत में आए छोटे-छोटे बदलाव को वे नजरअंदाज कर देते हैं।
सिर दर्द कई तरह के होते हैं और इनकी वजहें भी हर व्यक्ति में अलग-अलग होती हैं।

जानें क्यों होता है सिर में तेज दर्द।

सिर दर्द के कारण

1. स्ट्रोक

सिर दर्द स्ट्रोक के शुरुआती लक्षणों में से एक है। इसके शुरुआती दिनों में सिर में तेज दर्द होना शुरू हो जाता है। इसके साथ ही जी मिचलाना, बेचैनी और कभी-कभी को उल्टी भी आती है। स्ट्रोक तब होता है, जब मस्तिष्क के किसी हिस्से में खून की सप्लाई ठीक तरह से नहीं हो पाती। मस्तिष्क को ऑक्सीजन और पोषक तत्व नहीं मिल पाते, जिससे मस्तिष्क की कोशिकाओं पर बुरा असर पड़ता है। इससे कोशिकाएं मरनी शुरु हो जाती हैं और रोगी स्ट्रोक का शिकार हो जाता है। सिर दर्द के इस लक्षण को सही समय पर पहचानना बहुत जरूरी है।

2. माइग्रेन

सिर में बार-बार तेज दर्द होना और बिना दवां आराम न आना माइग्रेन के लक्षण हो सकते हैं। इससे सिर के एक हिस्से में तेज कंपन का अनुभव होता है। इस तरह का दर्द होने पर अनदेखी न करें।



3. ब्रेन फ्रीज

कुछ लोगों को किसी खाने की चीज से एलर्जी होती है जैसे आईसक्रीम,कोल्ड ड्रिंक आदि जैसे ठंड़े आहार। इस तरह के दर्द को ब्रेन फ्रीज कहते हैं। ज्यादा ठंड़ी चीजें खाने से ब्लड वेसेल्स पर असर पड़ता है। जिस कारण सिर में तेज दर्द होने लगता है, इन चीजों से परहेज करते दर्द से बचा जा सकता है।

4. डीहाइड्रेशन

पानी की कमी को डीहाइड्रेशन कहा जाता है, इस वजह से भी सिर में दर्द होता है। सिर्फ गर्मी के मौसम में ही नहीं सर्दी में भी शरीर को पानी की बहुत जरूरत होती है। रोजाना कम से कम 8-10 गिलास पानी का सेवन करें। इससे परेशानी काफी हद तक कम होनी शुरू हो जाएगी।

5. ऊंचाई

ज्यादा ऊंचाई भी सिर दर्द का कारण हो सकती है हालांकि इस तरह की दिक्कत कुछ लोगों को ही आती है। ऊंची पहाडियों पर जाते हुए या फिर फ्लाइट में सफर करते वक्त लैंडिंग और टैक ऑफ के कारण जहाज की बदलती पॉजीशन से भी उनके सिर में दर्द होने लगता है। यह सामान्य दर्द हैं, कुछ समय बाद यह दर्द सही हो जाता है।

Facebook Comments

, , , , ,

Leave a Reply