पोर्टेबल पेट्रोल पंप को सरकार की मंजूरी: आइये जाने इससे जुड़े 10 महत्वपूर्ण सवालों के जवाब?


पोर्टेबल पेट्रोल पंप के जरिए कोई भी व्यक्ति खुद से अपनी गाड़ी में पेट्रोल भर सकता है और इसके लिए किसी कर्मचारी की जरुरत भी नहीं होती।

पेट्रोलियम मंत्रालय ने भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंप लगाने को मंजूरी दे दी है। इस काम की जिम्मेदारी दिल्ली की कंपनी एलिंज पोर्टेबल पेट्रोल पंप प्राइवेट लिमिटेड को मिली है, जिसने चेक रिपब्लिक के साथ टाई-अप किया है। चेक रिपब्लिक ही भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंप की मशीनें तैयार करने के लिए प्लांट लगाएगी।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप का कॉन्सेप्ट भारत के लिए नया है, लेकिन 35 देशों में इसका इस्तेमाल बहुत पहले से ही किया जा रहा है। इसके जरिए आप खुद अपनी गाड़ी में पेट्रोल-डीजल या गैस भर सकते हैं। इसलिए आज हम आपको इससे जुड़ी हर वो बात बताने जा रहे हैं, जिसे जानना जरूरी है।

सवाल नंबर 1. आखिर क्या है पोर्टेबल पेट्रोल पंप ?

जवाब : इस खासतौर से छोटी जगहों और दूर-दराज इलाकों के लिए तैयार किया जाता है। एलिंज के मैनेजिंग डायरेक्टर इंदरजीत प्रुथी ने बताया कि इसके जरिए कोई भी खुद से पेट्रोल-डीजल भर सकेगा। इसके लिए किसी कर्मचारी की जरुरत नहीं होती।

सवाल नंबर 2. पोर्टेबल पेट्रोल पंप और आम पेट्रोल पंप में क्या अंतर होता है?

जवाब : पोर्टेबल पेट्रोल पंप को आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है और इसे लगाने के लिए ज्यादा जगह की भी जरुरत नहीं होती। जबकि आम पेट्रोल पंप एक बार बन गया तो उसे दूसरी जगह शिफ्ट नहीं किया जा सकता और इसके लिए जगह भी ज्यादा लगती है।

सवाल नंबर 3. ये काम कैसे करता है?

जवाब : जिस तरह से एटीएम मशीन काम करती है, ठीक उसी तरह से पोर्टेबल पेट्रोल पंप भी काम करता है। इसमें कोई व्यक्ति खुद से ही अपनी गाड़ी में पेट्रोल-डीजल भर सकता है।

सवाल नंबर 4. इससे पेमेंट कैसे करेंगे?

जवाब : गाड़ी में पेट्रोल-डीजल भरने के बाद इसकी पेमेंट कैशलेस ही होगी। क्रेडिट या डेबिट कार्ड से इसकी पेमेंट की जा सकती है।




सवाल नंबर 5. इससे हम कैसे पेट्रोल भर सकते हैं?

जवाब : ये मशीन वैसे ही काम करती है, जैसे आम पेट्रोल पंप की मशीनें काम करती हैं। बस यहां पर कोई कर्मचारी नहीं रहता। इसकी मशीन में आपको जितने का पेट्रोल भरना है, उतना अमाउंट डालकर पेट्रोल भर सकते हैं।

सवाल नंबर 6. इसमें कितना खर्चा आएगा?

जवाब : एलिंज पोर्टेबल पेट्रोल पंप के मैनेजिंग डायरेक्टर इंदरजीत प्रुथी ने बताया कि इसके लिए 1600 करोड़ रुपए की लागत से देशभर में 4 प्लांट बनाए जाएंगे, जहां इसकी मशीनें तैयार की जाएंगी।

सवाल नंबर 7. भारत में आने में इसको कितना समय लगेगा?

जवाब : अभी सरकार ने इसे मंजूरी दी है, लेकिन एलिंज राज्य सरकारों और पेट्रोलियम कंपनियों से बात कर रही है। सभी जगह से मंजूरी मिलने के बाद इसपर काम शुरू होगा। हालांकि, ये अभी तय नहीं है कि कब तक इसपर काम शुरू हो जाएगा।

सवाल नंबर 8. देशभर में कितने पोर्टेबल पेट्रोल पंप बनेंगे?

जवाब : एलिंज ने फिलहाल अगले 5 से 7 साल तक देशभर में 50 हजार पोर्टेबल पेट्रोल पंप लगाने का टारगेट तय किया है।

सवाल नंबर 9. इसकी मशीन में कितना पेट्रोल आ जाता है?

जवाब : पोर्टेबल पेट्रोल पंप की मशीन में एक बार में 9 हजार से लेकर 30 हजार लीटर तक पेट्रोल-डीजल भरा जा सकता है। इसके साथ ही इसमें गैस भरने का ऑप्शन भी मिलता है।

सवाल नंबर 10. इससे हमें क्या फायदा होगा?

जवाब : इससे सबसे ज्यादा फायदा ग्रामीण इलाकों के लोगों का होगा, साथ ही उन लोगों को भी होगा जो शहर से बाहर आते-जाते रहते हैं। ये मशीनें लगने के बाद गांव जैसे इलाकों में भी पेट्रोल-डीजल आसानी से मिल जाएगा।

Facebook Comments

Leave a Reply