एकता की नयी मिसाल, अंकित सक्सेना के पिता ने किया रोज़ा इफ्तार का आयोजन


वेस्ट दिल्ली के ख्याला इलाके में रहने वाले अंकित सक्सेना की हत्या के करीब 5 महीने बाद उनके घरवालों ने रमज़ान के इस महीने मे इफ्तार पार्टी का आयोजन किया।

अपने इकलौते बेटे को खो देने के बाद अंकित के माँ बाप ने समाज में मोहब्बत और भाईचारे का संदेश देते हुए इफ्तार पार्टी रखी। अंकित के कई दोस्तों के अलावा अंकित सक्सेना ट्रस्ट और आसपड़ोस में रहने लोगों के सहयोग से इफ्तार का आयोजन किया गया।

इफ्तार पार्टी में रोजेदारों के साथ-साथ भारी संख्या में हर समाज के लोग मौजूद रहे। रोजेदारों ने अमन के पैगाम को देते हुए नमाज अदा की और अंकित के लिए दुआ मांगी। अंकित के पिता यशपाल सक्सेना ने कहा कि यह सिर्फ फॉर्मेलिटी नहीं है। इस इफ्तार पार्टी से उन्होंने एक पैगाम को देने की कोशिश है।

वह उन लोगों को मेसेज देना चाहते हैं जो समाज में जाति या धर्म के नाम पर एक-दूसरे को बांटने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा कि हमें अंकित की हत्या में शामिल उन सभी लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उन्हें उस दिन का इंतजार रहेगा जब उन्हें इंसाफ मिलेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमें न्यायिक प्रक्रिया पर भरोसा है।




हम चाहते हैं कि इस केस को सांप्रदायिक रंग देकर हमें मिलने वाले न्याय के साथ छेड़छाड़ न की जाए। अंकित की मां के आंखों से आंसू नहीं रुक रहे थे। उन्होंने कहा कि अंकित हमारा इकलौता बेटा था। आज वह इस दुनिया में नहीं है तो हमारा भी कोई वजूद नहीं रहा। हमारे घर को चलाने का एकमात्र सहारा था। उन्होंने कहा कि हमारे आस-पड़ोस के लोगों ने भाईचारे और अमन के लिए इफ्तार पार्टी के आयोजन में हमारा भरपूर साथ दिया।

बता दें कि 23 साल के अंकित सक्सेना का इसी साल फरवरी में मर्डर कर दिया गया था। अंकित का गुनाह सिर्फ इतना था कि वह दूसरे धर्म की पड़ोसी लड़की से प्यार करते थे। लड़की ने भी अंकित से शादी का फैसला कर लिया था जिसका एक विडियो वायरल हुआ था। इसके बाद ही लड़की के परिवारवालों ने उनकी सरेआम गला रेतकर हत्या की थी। वारदात ने मजहबी तूल पकड़ा, लेकिन अंकित के पिता यशपाल ने अपने बेटे की मौत को धार्मिक रंग नहीं देने की अपील की।

इससे पहले अंकित के फ्रेंड्स ने उसके 23वें जन्मदिन को भी सेलिब्रेट किया था। अमन का पैगाम देने के लिए पोस्टर-बैनर लगाए थे। अंकित सक्सेना प्रोफेशनल फोटोग्राफर थे। उन्होंने आवारा बॉय के नाम से एक यू्ट्यूब चैनल भी बनाया था, जो काफी पॉपुलर था। जिस जगह अंकित की हत्या की गई थी, उस जगह उनके परिवार ने तुलसी का एक पौधा भी लगाया है।

Facebook Comments

Leave a Reply