नहीं थम रहा शिमला में पानी संकट,निगम अधिकारी सस्पेंड, सरकारी स्कूल बंद


देश का मशहूर पर्यटन स्थल शिमला पीने के पानी के संकट लगातार जूझ रहा है| हालांकि शनिवार को स्थिति मे थोड़ा सुधार हुआ क्योंकि यहां 2.25 करोड़ लीटर प्रति दिन से बढ़ाकर 2.8 करोड़ लीटर प्रति दिन कर दिया गया लेकिन कई क्षेत्रों में अपर्याप्त मात्रा में आपूर्ति की वजह से प्रदर्शन हो रहे हैं| कई इलाकों में पानी का संकट अभी भी बरकरार है|

स्कूल बंद करने की घोषणा

पानी की कमी को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने शिमला के स्कूलों को बंद रखने की घोषणा की है| 4 से 8 जून तक यहां के स्कूल बंद रखे जाएंगे| उधर, पानी की मांग को लेकर सैकड़ों लोगों ने राज्य सचिवालय की ओर जाने वाली सड़कों पर जाम लगा दिया और शिमला नगर पालिका व सरकार के खिलाफ नारे लगाए|

15 दिन से चल रहा है ये संकट

बता दें कि शिमला पर पिछले 15 दिनों से पानी का संकट छाया हुआ है| पानी को लेकर यहां लगातार धरने-प्रदर्शन भी हो रहे हैं| प्रशासन टैंकरों से पानी की आपूर्ति कर रहा है, मगर मांग को देखते हुए यह आपूर्ति काफी कम है| कई जगहों पर तो पानी सप्लाई में ही लापरवाही देखने को मिल रही है| प्रशासन ने पानी के संकट को देखते हुए सभी सरकारी स्कूलों को बंद रखने की घोषणा की है| प्रदेश के शिक्षा निदेशक डॉ. अमर देव ने बताया कि जुलाई माह में होने वाली छुट्टियों की जगह अब 4 से 8 जून तक स्कूल बंद रखे जाएंगे, जबकि जुलाई में स्कूल खुले रहेंगे|




 

टैंकर से कुचलकर महिला की मौत

शिमला में शनिवार एक बुजुर्ग महिला को एक वाटर टैंकर ने कुचल दिया| एक अधिकारी ने बताया कि पीड़ित की पहचान उमा सादरेत के रूप में हुई है| घटना के समय वह अपनी पोती के साथ यहां माल रोड पर टहल रही थी| पुलिस ने बताया कि वाहन के चालक को भी बेहोशी की अवस्था में एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया|

 

Facebook Comments

Leave a Reply