मध्य प्रदेश के सभी स्कूलों में हाज़िरी दर्ज कराने के लिए कहना होगा ‘जय हिंद’


मध्य प्रदेश के सभी स्कूलों में आने वाले शैक्षणिक सत्र से हाज़िरी दर्ज कराने के दौरान छात्र-छात्राओं को ‘यस सर’ या ‘यस मैम’ की जगह अब ‘जय हिंद’ कहना होगा| प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान की ओर से ये क़दम बच्चों में देशभक्ति की भावना पैदा करने के लिए उठाया गया है|

मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने गुरुवार को बताया, ‘रोल नंबर कॉल के दौरान ‘जय हिंद’ बोलने से बच्चों में देशभक्ति की भावना जाग्रत होगी|’

उन्होंने कहा, ‘हमने हाल ही में 1.22 लाख सरकारी स्कूलों एवं 35,000 निजी स्कूलों को निर्देश जारी किए हैं कि वे यह सुनिश्चित करें कि आने वाले शैक्षणिक सत्र से हाज़िरी दर्ज कराने के दौरान छात्र-छात्राएं ‘जय हिंद’ कहें|’

शाह ने बताया, ‘छात्र वर्तमान में ‘प्रैज़ेंट सर’, ‘प्रैज़ेंट मैडम’ के अलावा ‘यस सर’ या ‘यस मैम’ कहते हैं|इन अंग्रेज़ी शब्दों से क्या मिलेगा|’

उन्होंने कहा, ‘जय हिंद बोलने से विद्यार्थियों में देश के प्रति प्रेम एवं देशभक्ति की भावना पैदा होगी|’



स्कूलों में ‘जय हिंद’ बोलने की यह शुरुआत सबसे पहले प्रदेश के सतना में पिछले साल अक्टूबर में हुई थी|

शाह ने तब कहा था कि यदि यह प्रयोग सतना में सफल रहा तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अनुमति से इसे समूचे प्रदेश में लागू किया जाएगा|

शाह ने पहली बार इसकी घोषणा भोपाल में शौर्य स्मारक में एनसीसी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के एनसीसी कैडेटों को संबोधित करते हुए की थी| इस आदेश से पहले भी भाजपा सरकार स्कूलों में तिरंगा फिराने और राष्ट्रगान गाने के आदेश जारी कर चुकी है|

Facebook Comments

Leave a Reply