उन्नाव गैंगरेप मामले मे आज शाम तक SIT सौंपेगी रिपोर्ट, जानिये आखिर क्या है पूरा केस


उन्नाव रेप कांड को लेकर उत्तर प्रदेश में हंगामा मचा हुआ है| मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले की जांच के लिए SIT बना दी है|

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गृह विभाग को निर्देश दिए हैं कि उन्नाव मामले में गठित एसआईटी आज यानि बुधवार को ही उन्नाव का दौरा करे और मामले में पहली रिपोर्ट बुधवार शाम तक पेश करे|

 

इस बीच विधायक पर रेप का केस दर्ज करने की पीड़िता की याचिका पर उन्नाव की ज़िला अदालत कल सुनवाई करेगी| पीड़ित और विपक्षी पार्टियां विधायक सेंगर की गिरफ्तारी की मांग कर रही हैं|

फिलहाल योगी सरकार अब एसआईटी की जांच के बाद ही कोई एक्शन लेगी| बता दें कि बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर एक महिला ने रेप का आरोप लगाया, कहा कि उसे नौकरी का झांसा देकर विधायक के पास पहुंचाया गया|

आरोपी बीजेपी विधायक का भाई गिरफ्तार

आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह सेंगर समेत पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है| अतुल सिंह सेंगर पर पीड़िता के पिता के साथ मारपीट का आरोप है| पीड़िता के पिता की जेल में पिटाई की गई थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई| पीड़ित परिवार ने पहले ही इस तरह की आशंका जताई थी| युवती के पिता की मौत के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने यूपी सरकार को नोटिस जारी किया है|

एडीजी का दावा थाने में नहीं हुई मौत, 6 पुलिस वाले सस्पेंड

इस मामले में उत्तर प्रदेशे के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा कि पीड़ित के पिता की मौत पुलिस थाने में नहीं हुई| एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने यह भी जानकारी दी कि पीड़िता के पिता की मौत के बाद थाना प्रभारी समेत 6 पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया है| बता दें कि पीड़िता के पिता को पुलिस ने हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था|

पीड़िता के पिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

पीड़िता के पिता पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बड़ा खुलासा हुआ है कि पिटाई के दौरान उसकी आंत फट गई थी| पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुल 18 निशानों का जिक्र है. पीड़िता के पिता का बिसरा जांच के लिए सुरक्षित रखा गया है|




उन्नाव केस की पूरी जानकारी, 11 जून 2017 से अब तक क्या क्या हुआ?


11 जून 2017: पीड़िता गांव के युवक शुभम के साथ गायब हुई, परिवारवालों ने आरोपी शुभम, अवधेश पर केस किया
21 जून 2017: पीड़िता पुलिस को मिली
22 जून 2017: पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया, पीड़िता ने तीन लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया| विधायक समर्थक बताए जा रहे तीनों युवकों की गिरफ्तारी हुई
1 जुलाई 2017: मामले में चार्जशीट दायर हुई
22 जुलाई 2017: पीड़िता ने पीएम-सीएम को चिट्ठी लिखी, पीड़िता ने विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाया
30 अक्टूबर 2017: विधायक समर्थकों ने पीड़िता के परिवार पर मानहानि का केस किया, पीड़िता के घरवालों पर विधायक को रावण बताने वाला पोस्टर लगाने का आरोप
11 नवंबर 2017: पीड़िता के चाचा पर भी मानहानि का केस
22 फरवरी 2018: उन्नाव जिला अदालत में अर्जी दी, अर्जी में विधायक पर रेप का आरोप लगाया. आरोपी शुभम की मां पर नौकरी के बहाने विधायक के घर ले जाने का आरोप
3 अप्रैल 2018: कोर्ट से लौटते वक्त पीड़िता के परिवार पर हमले का आरोप. विधायक के भाई पर बदमाशों के साथ मिलकर पीटने का आरोप लगा. पुलिस ने आरोपियों की जगह पीड़िता के पिता पर आर्म्स एक्ट में केस किया
4 अप्रैल 2018: डीएम से शिकायत हुई, विधायक समर्थकों पर केस दर्ज हुआ| पुलिस ने विधायक के भाई पर कोई केस नहीं किया
4 अप्रैल 2018: पीड़िता के पिता को जेल भेज दिया गया|
9 अप्रैल 2018: सुबह पीड़िता के पिता की मौत हो गई. पुलिस ने तब चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया. विधायक के भाई का नाम आने पर उसकी भी गिरफ्तारी हुई
10 अप्रैल 2018: पीड़िता के पिता के पोस्टमार्टम के बाद हत्या की धारा जोड़ी गई. लापरवाही बरतने के आरोप में थाना प्रभारी समेत 6 पुलिसवाले निलंबित किए गए. जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया|

You may also like:  सीएम योगी के आगमन पर बनाई गई सड़क चुरा ले गए चोर
You may also like:  अमनमणि के खिलाफ शिकायत लेकर याेगी के जनता दरबार पहुंचे फरयादी को किया गया आउट
Facebook Comments

Leave a Reply