बिहार के दरभंगा में ‘मोदी चौक’ नाम रखने वाले की हत्या, परिवार ने लगाया आरोप


मृतक के परिजनों की माने तो उनका मोदी समर्थक होना ही इस घटना की वजह बन गया|

उन्होंने कहा देश में नरेंद्र मोदी की सरकार के बाद उसके अपने गांव के एक चौक का नाम “नरेंद्र मोदी चौक” रख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का एक बोर्ड भी लगा दिया| जिसके बाद महागठबंधन के लोग इसके पूरे परिवार से खफा हो गए|





 

बिहार के दरभंगा के सदर थाना इलाके के बाबू भदवा गांव में एक परिवार को मोदी भक्त होने का खामियाज़ा अपनी जान दे कर चुकाना पड़ा| ऐसा आरोप पीड़ित परिवार ने लगाया है| इस घटना मे परिवार के दूसरे सदस्य भी गंभीर रूप से घायल है जिनका इलाज़ दरभंगा अस्पताल में किया जा रहा है| घटना बीती रात की है| मृतक के परिजन ने मीडिया से बात करते हुए साफ शब्दों में कहा कि मोदी समर्थक होने के कारण हमारे साथ ऐसा हुआ|

पीड़ित परिवार के अनुसार गांव अल्पसंख्यक बाहुल्य होने की वजह से ‘मोदी चौक’ नाम लोग को पसंद नही था| लेकिन बिहार उप चुनाव के परिणाम में जीत के बाद महागठबंधन के कुछ लोग अति उत्साहित होकर बीती रात नरेंद्र मोदी चौक पर पहुंचे ओर प्रधानमंत्री का नाम लेकर प्रधानमंत्री को अपमानित करने लगे| जिसका विरोध रामचंद्र यादव के परिवार वाले करने लगे देखते ही देखते जल्द ही बात मारपीट में बदल गई|

बवाल बढ़ता देख समर्थक वापस भाग गए और कुछ देर बाद रात में अचानक 40-50 की संख्या में तलवार, लाठी-डंडों के साथ अचानक इसके घर पहुंच कर मार पीट करने लगे| तलवार से हुए हमले में कमलदेव यादव बुरी तरह घायल हो गया, जबकि उन लोगों ने कमलदेव के पिता रामचंद्र यादव को तलवार से गर्दन पर वार कर उनकी हत्या कर दी| यहीं नहीं उनके भाई पर भी समर्थकों ने जानलेवा हमला किया|

मृतक के परिजनों ने तो यह भी आरोप लगाया की जब दो साल पहले मोदी की तस्वीर लगाई गई थी तब भी इसके परिवार के एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी, साथ ही आने वाले दिनों में एक के बाद एक मोदी समर्थक के परिवार की अर्थी निकलने की धमकी भी मिली थी|

 

 

घटना से गुस्साए बीजेपी समर्थकों ने जिलाध्यक्ष हरी साहनी के नेतृत्व ने दरभंगा की मुख्य सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया| वहीं अस्पताल में भी बीजेपी समर्थको का पहुंचना जारी है| दरभंगा बीजेपी के जिलाध्यक्ष हरी साहनी ने भी पूरी घटना को राजनीतिक और नरेंद्र मोदी के नाम पर एक चौक के नाम रखने के कारण होना बताया| इधर बीजेपी के सड़क जाम करने के बाद मौके पर पहुंचे एएसपी दिलनवाज अहमद ने आक्रोशित बीजेपी के समर्थकों से बात कर आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वशासन दिया|

वैसे पुलिस द्वारा घटना का कारण कुछ और भी होने की बात बताई जा रही है| गौरतलब बात है कि एएसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि घटना के बाद बयान में घायल की भाभी ने घटना का कारण पुरानी रंजिश बतायी थी| लेकिन आज कुछ और मामला बताया जा रहा है| पुलिस सभी बिंदुओं पर गहराई से जांच कर रही है|

Facebook Comments

Leave a Reply