इंसानियत ज़िंदा है, सीरिया मे मदद करने मसीहा बनकर पहुंचा खालसा NGO


सारी दुनिया मे पिछले 11 दिनों मे सीरिया मे जानलेवा बमबारी की कड़ी निंदा हो रही है|

छोटे छोटे मासूम बच्चों के खून से लथपथ चेहरे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं| इस बमबारी से अब तक करीब 500 लोगों की जान जा चुकी है और इस खबर को सुनने और पढ़ने वाले हर व्यक्ति के अंदर सीरिया मे हमले के शिकार लोगो के प्रति हमदर्दी और अफ़सोस है|

 

लेकिन इसी बीच भीड़ से हटकर खालसा ऐड नामक NGO ने बेहद सराहनीय और साहसी कदम उठाया है|

बमबारी के शिकार लोगों के लिए खालसा ऐड किसी मसीहा से कम नहीं| हर मज़हब के द्वारा दिए गए प्रेम और इंसानियत के पैग़ाम को खालसा ऐड ने सही मायने मे अपना कर एक बेहतरीन मिसाल कायम कर दी है|

मुफ्त खाने पीने से लेकर आश्रय और तमाम स्वास्थ्य व्यवस्थाएं खालसा ऐड द्वारा पीड़ितों को मोहय्या कराइ जा रही हैं| पूरी लगन और प्रेम भाव से NGO का हर सदस्य वहां मौजूद हर पीड़ित बच्चे, बूढ़े, जवान और महिलाओं की मदद करने मे लगा है|

दुनिया मे धुंधली हो रही इंसानियत की तस्वीर को खालसा ऐड ने अपने इस ऐतिहासिक कदम से सुर्खरूह कर दिया है|

“पूरी खबर” खालसा ऐड से जुड़े हर सदस्य को सलाम करती है|

Facebook Comments

Leave a Reply