बहुत ज्यादा ग्रीन टी पीने से हो सकती हैं ये 8 स्वास्थ्य समस्याएं


ग्रीन टी अनेक प्रकार से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन इतने सारे फायदे होने के बावजूद ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी पीना आपकी सेहत के लिए घातक भी हो सकता है।



ग्रीन टी अनेक प्रकार से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसके नियमित सेवन से वजन में कमी आती है, त्वचा संबंधी समस्याएं दूर होती हैं, बालों का झड़ना बंद हो जाता है और टॉक्सिन्स शरीर से बाहर हो जाते हैं। लेकिन इतने सारे फायदे होने के बावजूद ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी पीना आपकी सेहत के लिए घातक भी हो सकता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक एक दिन में तकरीबन 300-400 मिग्रा ही ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि अगर हम इससे ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो हमारे शरीर को किस तरह के नुकसान हो सकते हैं।

आइये जानते हैं इसके ज़्यादा सेवन से सेहत को होने वाले नुक्सान:

1. पेट संबंधी समस्याएं – ग्रीन टी में कम मात्रा में ही सही कैफीन पाया जाता है। यह पेट संबंधी समस्या का कारण हो सकता है। कैफीन आपके पेट में एसिड की मात्रा बढ़ा देता है जो पाचन संबंधी समस्याओं को जन्म देता है। इससे पेट दर्द और मिचली की समस्या हो सकती है।

 2. नींद में दिक्कतें – रात को सोते समय कभी ग्रीन टी का सेवन कभी नहीं करना चाहिए। यह आपकी नाड़ियों को सक्रिय कर देता है जिससे आपकी नींद में खलल पड़ सकती है और आप देर रात तक जगे रहते हैं।

3. आयरन की कमी – एक शोध के मुताबिक बहुत ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी का सेवन एनीमिया की वजह बन सकता है। इसमें टैनिंस और पॉलीफेनाल्स पाए जाते हैं जो शरीर के आयरन को अवशोषित करने की क्षमता पर असर डालते हैं। ऐसे में एनीमिया की संभावना बढ़ जाती है।




4.दिल की धड़कन का अनियमित होना – ग्रीन टी में मौजूद कैफीन आपके दिल की धड़कन को अनियमित कर सकता है। यह आपकी सेहत के लिए घातक हो सकता है।

5. मांसपेशियों में मरोड़ – ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी का सेवन मांसपेशियों में मरोड़ की वजह बन सकता है। ग्रीन टी में पाया जाने वाला कैफीन सेग सिंड्रम का कारण होता है। इसी वजह से पैरों में मरोड़ की शिकायत होती है।

6. डायरिया – ग्रीन टी का ज्यादा मात्रा में सेवन करना डायरिया का कारण हो सकता है। ऐसे में इसकी समुचित मात्रा ही सेवन करने के लिए इस्तेमाल की जानी चाहिए।

7. उल्टी – एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि ग्रीन टी में पाया जाने वाले पॉलीफेनॉल्स ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का कारण बनते हैं। ऐसे में अगर आप ज्यादा मात्रा में ग्रीन टी पीते हैं तो यह उल्टी और मिचली का कारण बन सकता है।

8. सीने में जलन – ग्रीन टी का नेचर एसिडिक होता है। ऐसे में ज्यादा ग्रीन टी पीना सीने में जलन की वजह हो सकता है।

Facebook Comments

Leave a Reply